PM Kisan Yojana Registration, Apply Online Form, Eligibility, Benefits

  • September 2, 2021 ( 1 month ago )
  • Central

भारत की अर्थव्यवस्था मुख्यत: कृषि प्रधान है, महात्मा गांधी के अनुसार भारत गांव में निवास करता है। भारत में कुल जनसंख्या का लगभग 65% ग्रामीण क्षेत्रों में निवास करता है। क्षेत्र के लोगों का मुख्य व्यवसाय कृषि और संबंधित गतिविधियां है। इस प्रकार भारत का प्रमुख कार्य कृषि है।

यूं तो कृषक काफी मेहनत और मशक्कत के बाद फसलों को तैयार करते हैं किंतु तकनीको अथवा संसाधनों के अभाव में वे संतोषजनक परिणाम नहीं प्राप्त कर पाते हैं। कभी वर्षा का अभाव, कभी उर्वरक का अभाव अथवा कभी जानवरों से सुरक्षा ना कर पाने की स्थिति में वे अपने मेहनत का उचित मूल्य प्राप्त नहीं कर पाते।

सरकार द्वारा इन अन्नदाता कृषकों को किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत धनराशि देकर प्रोत्साहित किया जाता है, जिससे वे अपने कृषि कार्य को सुगमता से कर सके।

pm kisan yojana

About PM Kisan Yojana क्या है प्रधानमंत्री किसान योजना

प्रधानमंत्री किसान योजना के अंतर्गत भारत में निवास करने वाले किसानों को आर्थिक रूप से सहायता प्रदान करने का लक्ष्य है। इस योजना शुरुआत 2 वर्ष पहले 1 फरवरी 2019 से शुरुआत की गई थी। कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय की पहल पर भारत के किसानों के लिए 75000 करोड का बजट इस योजना के लिए पारित किया गया था।

PM Kisan yojana advantage

इस योजना का लाभ लेने हेतु भारत का निवासी होना अनिवार्य तथा कृषि कार्यों में संलग्नता अर्थात आप वास्तव में एक किसान हैं यह सुनिश्चित होना चाहिए।
गांव के छोटे और सीमांत किसान जिनके पास 2 हेक्टेयर ( 4.9 एकड ) से कम की भूमि हो, वे इस योजना हेतु आवेदन के पात्र हैं।

PM Kisan yojana benefits

देश के सभी छोटे किसान जो कृषि कार्य में अभाव की वजह से फसलों को ने श्रम के अनुरूप प्राप्त नहीं कर पाते हैं, उन्हें आर्थिक रूप से सरकार के द्वारा वर्ष में ₹6000 उपलब्ध कराए जाते हैं, इस राशि का भुगतान तीन किस्तों में किया जाता है अर्थात 4 माह के अंतराल में ₹2000 की राशि किसानों को प्रदान की जाती है। यह राशि किसानों को सीधे उनके बैंक खाते में प्रदान की जाती है जिससे सरकार की इस योजना द्वारा प्रत्यक्ष रूप से किसानों को सहायता मिल सके।

सीमांत किसानों को बुवाई, उर्वरक तथा खाद, सिंचाई तथा कटाई में काफी सहायता मिली है। किसान इस योजना के द्वारा आर्थिक रूप से मजबूत हुए हैं जिससे उन्हें संसाधनों की पूर्ति करने में सहायता मिलेगी तथा फसलों का नुकसान नहीं होगा, किसी अन्य कारणों से भी कृषि में श्रम व्यर्थ नहीं जाएगा।

PM Kisan Yojana Registration

प्रधानमंत्री किसान निधि योजना में आवेदन कैसे करें

  • प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में दो प्रकार से आवेदन किया जा सकता है।
  • कॉमन सर्विस सेंटर द्वारा
  • प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना के ऑफिशियल वेबसाइट पर स्वयं से आवेदन
  • कॉमन सर्विस सेंटर में आवेदन करने हेतु अपने नजदीकी सेंटर पर आधार कार्ड , पासबुक और अपनी खेती की भूमि का दस्तावेज लेकर जाना होगा। वहां आवेदन हेतु इन सभी दस्तावेजों की आवश्यकता होगी।
  • आवेदन शुल्क देकर आप वहां अपना रजिस्ट्रेशन करा कर अपना आवेदन करा सकते हैं, जो कि ऑनलाइन प्रक्रिया के द्वारा बहुत ही कम समय में पूरी हो जाएगी।

वहीं यदि आप स्वयं से आवेदन करना चाहते हैं तो प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के ऑफिशल वेबसाइट https://pmkisan.gov.in/ पर जाएं।

  • यहां रजिस्ट्रेशन हेतु सबसे पहले New farmer रजिस्ट्रेशन पर जाए।
  • वहां अपना आधार कार्ड नंबर डालने के बाद ओटीपी के द्वारा सत्यापन किया जाएगा किसान योजना का फॉर्म आ जाएगा।
  • फॉर्म को भर दे तथा यह सुनिश्चित करें कि आपके द्वारा दी गई सभी जानकारी सही है।
  • उसके बाद फॉर्म को सबमिट कर दे, जिससे आपका आवेदन पूरा हो जाएगा।
  • आवेदन विभिन्न स्तरों पर सत्यापित होने के पश्चात ही आपको राशि प्रदान की जाएगी। सर्वप्रथम आपके प्रखंड स्तर पर, उसके पश्चात जिला कल्याण विभाग के द्वारा जिला स्तर पर क्या पित्त कर राज्य सरकार को भेजा जाएगा। राज्य द्वारा इसे पारित किए जाने के बाद केंद्र सरकार तक आपका आवेदन भेजा जाएगा।
  • सभी प्रक्रियाओं के सत्यापन के पश्चात राशि खाते में आना आरंभ हो जाएगा।
  • सत्यापन कार्य तथा अपने आवेदन की स्थिति प्रधानमंत्री किसान योजना स्टेटस के द्वारा देखा जा सकता है।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में वर्ष में 3 किस्ते प्रदान की जाती है जो ₹2000 की होती है किंतु नए रिपोर्ट्स के मुताबिक ऐसी संभावना है की इस राशि को बढ़ाकर ₹4000 प्रति के अर्थात ₹12000 सालाना किया जाएगा। इस बात पर कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, मंत्री निर्मला सीतारमण तथा बिहार के कृषि मंत्री अमरेंद्र प्रताप सिंह के द्वारा चर्चा की गई है, जो किसानों के लिए अत्यंत लाभकारी सिद्ध होगी।